‘ओपेनहाइमर’ कथित तौर पर हिंदू भावनाओं को आहत करता है, इंटरनेट पर इसका विरोध हो रहा है

क्रिस्टोफर नोलन की ‘ओपेनहाइमर’ ने “आपत्तिजनक दृश्य” के साथ विवाद खड़ा कर दिया, जिसमें सिलेन मर्फी ने पवित्र पुस्तक ‘गीता’ से एक श्लोक का पाठ किया था।

नई दिल्ली: क्रिस्टोफर नोलन की ‘ओपेनहाइमर’ ने फिल्म में एक “आपत्तिजनक दृश्य” के साथ विवाद खड़ा कर दिया, जहां मुख्य अभिनेता सिलैन मर्फी ने फ्लोरेंस पुघ के साथ संभोग के बीच पवित्र पुस्तक ‘गीता’ से एक श्लोक का पाठ किया।

विचाराधीन दृश्य में फिल्म की नायिका सिलियन मर्फी को ‘गीता’ की एक प्रति सौंपती है और उनसे पवित्र पुस्तक की एक पंक्ति पढ़ने के लिए कहती है। जब जोड़े ने संभोग फिर से शुरू किया तो मृफी ने कहा, “अब मैं मृत्यु बन गया हूं, दुनिया का विनाशक।”

इस विशेष दृश्य के कारण हिंदुत्व समूहों में गुस्सा फैल गया, जिन्होंने मांग की कि “आपत्तिजनक दृश्य” को फिल्म से हटा दिया जाना चाहिए ताकि इसे ‘हिंदुओं’ के लिए और अधिक समावेशी बनाया जा सके।

बड़ी हिंदू विरोधी साजिश: भारत के सूचना आयुक्त

भारत के सूचना आयुक्त, उदय माहुरकर ने इसे “हिंदू धर्म पर परेशान करने वाला हमला” बताया और आरोप लगाया कि यह कदम “हिंदू विरोधी ताकतों की एक बड़ी साजिश का हिस्सा है।”

माहुरकर ने अपने आधिकारिक हैंडल पर एक लंबे ट्वीट में लिखा, “हमारा मानना ​​है कि यदि आप इस दृश्य को हटा देते हैं और हिंदुओं का दिल जीतने के लिए जरूरी कदम उठाते हैं, तो एक संवेदनशील इंसान के रूप में आपकी साख स्थापित करने और आपको अरबों अच्छे लोगों की दोस्ती का उपहार देने में काफी मदद मिलेगी।”

उन्होंने कहा, “लेकिन यह एक अरब सहिष्णु हिंदुओं की धार्मिक मान्यताओं पर सीधा हमला है, बल्कि यह हिंदू समुदाय पर युद्ध छेड़ने जैसा है और लगभग हिंदू विरोधी ताकतों की एक बड़ी साजिश का हिस्सा प्रतीत होता है।”

ट्विटर पर #BoycottOppenhaimer की धूम मच गई

इस आक्रामकता के कारण सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर #BoycottOppenhaimer के तहत एक ऑनलाइन विरोध प्रदर्शन भी हुआ। कई लोगों ने इस दृश्य की निंदा करते हुए इसे “घृणित”, “हिंदू विरोधी” और “हिंदू धर्म का अपमान” बताया है।

Leave a Comment