G20 शिखर सम्मेलन: IGI दिल्ली से 160 उड़ानें रद्द; यहा जांचिये

जानें कि कैसे आगामी G20 शिखर सम्मेलन के कारण दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उड़ानें रद्द हो रही हैं।

नई दिल्ली: घटनाओं के एक आश्चर्यजनक मोड़ में, दिल्ली का इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डा अपने उड़ान संचालन में एक महत्वपूर्ण व्यवधान के लिए तैयार हो रहा है। 8 से 10 सितंबर के बीच निर्धारित कुल 160 उड़ानें – 80 प्रस्थान करने वाली और 80 आने वाली – रद्द होने का सामना कर रही हैं। कारण? आगामी G20 शिखर सम्मेलन, नई दिल्ली के केंद्र में होने वाला है। इस अप्रत्याशित विकास ने विमानन क्षेत्र को सदमे में डाल दिया है, जिससे एयरलाइंस को संभावित यातायात प्रतिबंधों के मद्देनजर अपनी योजनाओं का पुनर्मूल्यांकन करने के लिए प्रेरित किया गया है।

जी20 शिखर सम्मेलन, वैश्विक राजनयिक कैलेंडर पर एक हाई-प्रोफाइल कार्यक्रम, 9 और 10 सितंबर को आयोजित होने के लिए तैयार है। शिखर सम्मेलन का महत्व इसकी शक्ति से भरपूर उपस्थिति और परिणामी चर्चाओं को देखते हुए निर्विवाद है।

हवाई अड्डे के अधिकारियों ने यात्रियों को तुरंत आश्वस्त किया कि रद्द की गई 160 उड़ानें दिल्ली के व्यस्त हवाई अड्डे पर सामान्य घरेलू परिचालन का मात्र छह प्रतिशत प्रतिनिधित्व करती हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें अप्रभावित रहेंगी, जिसका उद्देश्य विदेश से यात्रा करने वालों को होने वाली असुविधा को कम करना है।

कमरे में हाथी को संबोधित करते हुए, हवाई अड्डे के प्रवक्ताओं ने स्पष्ट किया है कि उड़ान रद्दीकरण विमान पार्किंग चिंताओं से पूरी तरह से असंबंधित है। दिल्ली हवाई अड्डे पर पर्याप्त पार्किंग स्थान के साथ, पार्किंग से संबंधित मुद्दे स्पष्ट रूप से दूर हैं।

हालाँकि, यह सिर्फ विमानन उद्योग नहीं है जो प्रभाव के लिए तैयार है। दिल्ली पुलिस ने घोषणा की कि जी20 शिखर सम्मेलन के कार्यक्रम के अनुरूप, हवाई अड्डे तक सड़क यात्रा 8 से 10 सितंबर तक बाधित रहेगी। उनकी सलाह? अपने आवागमन के लिए परेशानी मुक्त और कुशल दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट लाइन को चुनें।

जो लोग सड़क पर उतरने के लिए दृढ़ हैं, उनके लिए दिल्ली पुलिस की एक सलाह: अपनी यात्रा के लिए पर्याप्त अतिरिक्त समय का ध्यान रखें। सड़कों पर भारी भीड़भाड़ होने की उम्मीद है, जिससे यात्रियों के लिए समय प्रबंधन एक महत्वपूर्ण विचार बन जाएगा।

तैयारी महत्वपूर्ण है और दिल्ली पुलिस कोई कसर नहीं छोड़ रही है। G20 शिखर सम्मेलन ने शहर के 21 प्रमुख स्थानों पर पर्यटक पुलिस वाहनों की तैनाती को प्रेरित किया है, जिनमें रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डे के टर्मिनल से लेकर लाल किला, कुतुब मीनार और लोटस टेम्पल जैसे प्रतिष्ठित स्थल शामिल हैं। स्थानीय लोगों और आगंतुकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 400 से अधिक विशेष रूप से प्रशिक्षित पुलिस कर्मियों को इन वाहनों पर तैनात किया गया है।

जैसे-जैसे जी20 शिखर सम्मेलन नजदीक आ रहा है, दिल्ली का परिदृश्य-आसमान और जमीन दोनों में-एक असाधारण परिवर्तन के लिए तैयार है। सूचित रहें, आगे की योजना बनाएं और अपनी यात्रा पर शिखर सम्मेलन के प्रभाव को सहजता से समझें।

Leave a Comment